220000 BEd Students News 2024: सुप्रीम कोर्ट ने 220000 बीएड डिग्रीधारकों को दिया झटका, अब टीचर नहीं बन पायेंगे बीएड अभ्यर्थी

220000 BEd Students News 2024: उत्तर प्रदेश में बीते कुछ दिनों में शिक्षा क्षेत्र से जुड़ी कई खबरों ने हलचल मचा रखा है। कहीं 35000 बीएड अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी मिली तो वहीं अब 220000 बीएड डिग्री धारकों को सुप्रीम कोर्ट से बड़ा झटका लगा है। जैसा कि हमने आपको पहले भी यह अपडेट दिया था कि कोर्ट ने 69000 प्राथमिक शिक्षक भर्ती में शिक्षक पद पर चयनित 35000 बीएड वालों को सुरक्षित कर दिया है। उसके बाद ही 2 लाख 20 हजार बीएड के लिए पुनः एक खबर आ गई जोकि काफी बड़ी खबर है।

बीएड डिग्री धारकों को मिलेगा यूपीटेट प्राइमरी सर्टिफिकेट

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा का आयोजन पिछले 3 वर्षों से नही हो पाया है। अंतिम बार परीक्षा 23 जनवरी 2022 को आयोजित की गई थी जोकि 2021 की परीक्षा थी। आपको बता दें UPTET 2021 की परीक्षा लीक होने की वजह से कैंसल हो गई थी जिसके बाद 23 जनवरी 2022 को पुनः परीक्षा करवाई गई थी। इस परीक्षा का परिणाम 8 अप्रैल 2022 को ही जारी कर दिया गया था। जिसमें लगभग 4 लाख लोगों ने यह परीक्षा क्वालीफाई की थी। इनमे बीएड अभ्यर्थियों के संख्या 2 लाख 20 हजार के करीब थी।

इस परीक्षा का परिणाम जारी के बावजूद आज तक इसका सर्टिफिकेट नही दिया गया था। किंतु सुप्रीम कोर्ट द्वारा पुनः दिए गए फैसले के बाद PNP ने बीटीसी तथा बीएड दोनो को 2021 यूपीटेट प्राथमिक का प्रमाणपत्र देने का निश्चय किया है। आपको बता दें सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि 11 अगस्त 2023 से पूर्व हुए किसी भी गतिविधि में बीएड अभ्यर्थी योग्य हैं। किंतु इसके बाद किसी भी प्राथमिक शिक्षक भर्ती में शामिल नहीं किए जायेंगे। इतना सुनते ही परीक्षा नियामक प्राधिकारी ने प्राथमिक स्तर का प्रमाणपत्र देने की सूचना जारी कर दी।

प्रमाण पत्र मिलने के बाद भी बीएड नहीं होंगे योग्य

आपको बता दें कि 11 अगस्त 2023 को आए बीएड बनाम बीटीसी मामले में बीटीसी के पक्ष में सर्वोच्च न्यायालय ने फैसला सुनाया था। अब जब PNP द्वारा प्रमाणपत्र दिया जाने का सूचना दी गई है। इससे बहुत से लोगों को लग रहा है कि वे आगामी प्राथमिक शिक्षक भर्ती के लिए योग्य हैं। किंतु ऐसा नहीं है क्योंकि बीएड अभ्यर्थियों को शिक्षक पात्रता परीक्षा का सर्टिफिकेट दिया गया है। अब को शिक्षक भर्ती आएगी वह जाहिर सी बात है कि 11 अगस्त 2023 के बाद की ही गणना की जाएगी। अतः प्राथमिक शिक्षक भर्ती के लिए ये 220000 बीएड अभ्यर्थी योग्य नहीं होंगे।

Leave a Comment